Sunday, December 21, 2008

व्यक्तियों का सम्मान


flower trans
व्यक्तियों का सम्मान उनकी विद्वता, बुद्धिमत्ता, शूरवीरता, कुलीन जन्म और सत्कर्मों के आधार पर होना चाहिये।
--- कौटिल्य।

ज्ञानदत्त पाण्डेय

4 comments:

varun jaiswal said...

सच है किंतु कभी कभी गधों को भी सम्मान मिल जाता है |

varun jaiswal said...

बचपन में पढ़ा था याद दिलाने हेतु शुक्रिया |

Vivek Gupta said...

सुंदर विचार

P.N. Subramanian said...

सावधान ! यह हम सब के सेल्फ़ असेसमेंट के लिए कही गयी है.