Friday, April 16, 2010

चुनौती


मेरी तीन चुनौतियां हैं। सबसे आसान चुनौती है ब्रिटिश साम्राज्य। इस पर सबसे आसानी से प्रभाव डाला जा सकता है। दूसरी चुनौती है भारतीय जनता। इस से बात मनवाना कठिन है।  लेकिन मेरी सबसे बड़ी चुनौती है मोहनदास गांधी नाम का आदमी। इस पर तो मेरा जोर ही नहीं चलता प्रतीत होता।
~ मोहनदास कर्मचन्द गांधी

2 comments:

vipul said...

bahut khub pankti

apke Vichar chahunga apne blog par

www.nayadinnayikahani.blogspot.com/

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

इस्लिये तो गान्धी को महात्मा कहा जाता है