Friday, October 16, 2009

मन और स्वास्थ्य



आपका मन आपके स्वास्थ्य पर कहीं ज्यादा प्रभाव डालता है बनिस्पत किसी दवा या किसी शल्य चिकित्सा के - जो आज तक किसी वैज्ञानिक नें ईजाद की हो!
विक कॉनेण्ट (Vic Conant) का ई-मेल।


1 comments:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

बिलकुल सही वाक्य है। मेरा पिछले पच्चीस वर्षों का अनुभव है होमियोपैथी के साथ कि दवा तभी कारगर तरीके से काम करती है जब कि बीमार को विश्वास हो कि वह दवा से अवश्य ठीक हो जाएगा। दादाजी मोरपंखियों के झाड़े से झाड़ा दिया करते थे जो बहुत कारगर होता था। लोग उन पर विश्वास करते थे कि उन के झा़ड़े में चमत्कार है। दादा जी यह विद्या पिता जी को बताई और पिता जी ने मुझे बताया कि मैं सिर्फ ईश्वर से दुआ करता हूँ कि यह तेरे नाम पर विश्वास कर के मेरे पास आया है इसे जल्दी ठीक कर और दादा जी भी यही किया करते थे।