Wednesday, October 14, 2009

कविता



कविता आनन्द में प्रारम्भ होती है और ज्ञान में समाप्त।
~ रॉबर्ट फ्रॉस्ट।




2 comments:

Udan Tashtari said...

आभार..

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

सही है!