Friday, July 17, 2009

सफल विवाह



सफल विवाह के दो रहस्य:
१. जब कभी आप गलती पर हों, स्वीकार का लें।
२. जब कभी आप सही हों, - चोप्प!
~ पेट्रिक मुर्रा।


2 comments:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

इस बात का फैसला कौन करेगा कि क्या सही है और क्या गलत?

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

@ श्री दिनेश राय - निश्चय ही आपकी पत्नी। आपमें गुण होता तो विवाह की गलती करते? :)